Home राष्ट्रीय राजनाथ

राजनाथ

196

बाराबंकी । ‘भारत छोड़ो’ और ‘साइमन गो बैक’ का नारा देकर युवाओं में उत्साह का संचार करने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापक स्व. यूसुफ मेहर अली की 69वीं पुण्य तिथि पर गांधी भवन में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। सभा की अध्यक्षता कर रहे समाजवादी चिन्तक राजनाथ शर्मा ने बताया कि आचार्य नरेन्द्र देव, जयप्रकाश नारायण और डॉ. राममनोहर लोहिया के निकट सहयोगी यूसुफ मेहर अली और अन्य  समाजवादी साथियों ने कांग्रेस में रहते हुए सन् 1934 में कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी की स्थापना की। जो आज़ादी के बाद सन् 1948 में कांग्रेस से अलग होकर सोशलिस्ट पार्टी के रूप में एक स्वतंत्र राजनैतिक दल बना। श्री शर्मा ने कहा कि यूसुफ मेहर अली स्वतंत्रता सेनानी के साथ ही एक समाज सुधारक भी थे। उन्होंने मजदूर और किसान संगठन को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाई। उन्हें स्वतंत्रता आन्दोलन के दौरान आठ बार जेल जाना पड़ा। वे सन् 1942 में लाहौर जेल में रहते हुए मुंबई के मेयर के रूप में चुने गए। उन्होंने महात्मा गांधी के साथ मिलकर ‘भारत छोड़ो’ आन्दोलन में महत्वपूर्ण योगदान दिया। श्री शर्मा ने बताया कि जय प्रकाश नारायण एक बात का जिक्र हमेशा करते थे कि ‘मेरी गोद में किसी व्यक्ति ने दम तोड़ा तो वह सिर्फ यूसुफ मेहर अली थे।’ यूसुफ मेहर अली उन लोगो में से थे जिन्होने खुद को तबाह करके भारत की बुनियाद रखी। उन्होंने देश की नींव इतनी मजबूत  रखी जिसकी बुनियाद आज भी विश्व बंधुत्व का पैग़ाम देती है। मुंबई के आज भी सबसे ख्याति प्राप्त राजनेता है। इस मौके पर स्व. यूसुफ मेहर अली के चित्र पर मार्ल्यापण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई। कार्यक्रम का संचालन पाटेश्वरी प्रसाद ने किया। इस मौके पर प्रमुख रूप से विनय कुमार सिंह, मृत्युंजय शर्मा, वरिष्ठ अधिवक्ता रामगोपाल शुक्ला, रवि प्रताप सिंह, पी.के सिंह, रंजय शर्मा, वासिक रफीक वारसी, नीरज दूबे, अशोक जायसवाल, शिवा शर्मा, मनीष सिंह, सत्यवान वर्मा, कपिल सिंह यादव, अनिल  यादव, सहित कई लोग उपस्थित हुए।