Home मध्य-प्रदेश पर्यावरण संतुलन हर व्यक्ति की ज़िम्मेदारी

पर्यावरण संतुलन हर व्यक्ति की ज़िम्मेदारी

110

हर क्षण का मुद्दा है पर्यावरण संरक्षण : राज्यपाल श्री पटेल
एप्को की साधारण सभा की बैठक में राज्यपाल

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा है कि पर्यावरण संरक्षण हर क्षण का मुद्दा है। जलवायु यदि प्रदूषित होगी, तो उसका असर हर क्षण मानव जाति पर होगा। ग्लोबल वार्मिंग और क्लाइमेट चेंज के प्रकोपों को हम सब देख और समझ रहे हैं। जरूरत पर्यावरण संतुलन अनुसार व्यवहार की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का हर व्यक्ति पर्यावरण संतुलन के लिए जिम्मेदार है, आज इस भावना के साथ प्रयासों की जरूरत है।

राज्यपाल श्री पटेल आज राजभवन में पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन एप्को की 11वीं साधारण सभा की बैठक को संबोधित कर रहे थे। पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं सदस्य मौजूद थे।

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा कि प्रगति की अंधी दौड़ में मानव जाति द्वारा प्रकृति का शोषण किए जाने से गंभीर संकट खड़ा हो गया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने दूरदृष्टि से इस चुनौती को देखते हुए, वर्ष 2070 तक ग्रीन हाउस उत्सर्जन को जीरो नेट करने का लक्ष्य दिया है। क्योंकि जान है तो जहान है, इसलिए पर्यावरण संतुलन के प्रति जन-चेतना बढ़ाने के प्रयास किये जाना अनिवार्य है। उन्होंने गुजरात के शिक्षक दंपति द्वारा स्कूली बच्चों से पौध रोपण कराने के दृष्टांत का उल्लेख करते हुए कहा कि संसाधन से ज़्यादा पर्यावरण संरक्षण की सोच का होना जरूरी है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री काल में वन महोत्सव के द्वारा जन-जागृति का व्यापक कार्यक्रम सफलतापूर्वक चलाया था। उन्होंने कहा कि लोग बच्चों के सुखद भविष्य के लिए धनराशि की बचत करते हैं, जबकि जरूरत पर्यावरण संरक्षण की है, क्योंकि यदि जीवन ही सुरक्षित नहीं होगा तो पैसे की क्या उपयोगिता रहेगी।

राज्यपाल श्री पटेल ने एप्को की गतिविधियों और कार्यक्रमों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देशित किया कि कार्यों के समय-सीमा में पालन प्रतिवेदन पर विशेष बल दिया जाए। उन्होंने स्वयं का उदाहरण देते हुए अधिकारियों को योजनाओं की जमीनी हकीकतों से नियमित रूप से परिचित होने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि मौका मुआयना के द्वारा मॉनिटरिंग किया जाना अधिक प्रभावी होता है। उन्होंने पौध-रोपण के लिए नर्सरी में पौधों को बड़ा करने के बाद पौधों का रोपण कराने के लिए कहा।

पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने कहा कि पर्यावरण के प्रति जन-जागृति के प्रयासों में ग्रामीण अंचल में भी फोकस किया जाना चाहिए। कार्यपालक संचालक श्री श्रीमन् शुक्ला ने संगठन की संरचना, स्वरूप और संचालन संबंधी जानकारियाँ प्रस्तुत की। एप्को के महानिदेशक श्री अनिरुद्ध मुखर्जी ने राज्यपाल श्री पटेल को पौधा भेंटकर स्वागत किया।